कान दर्द के घरेलू उपचार

कान दर्द

 

कान दर्द
कान दर्द का सफल इलाज 

सर्दी या बरसात के मौसम में कान के रोग हो जाते है। अगर इनका समय से इलाज नहीं किया गया तो सुनने की शक्ति पर असर पड़ सकता है। सर्दी ,लगातार तेज और कर्कश ध्वनि, कान में चोंट, कान में कीडा घुसना या संक्रमण,कान में अधिक मैल जमा होना या नहाते समय कान में पानी प्रविष्ठ होना इनमें से किसी भी कारण से कान में रोग हो सकता है। अगर आपको भी कान के दर्द की समस्या हो रही है तो ये घरेलु नुस्खे अपनाकर कान की बीमारी को जड़ से खत्म कर सकते हैं। इसके लिए आपको किसी डॉक्टर या वैद्य के पास जाने की जरुरत नहीं है , ये सारे घरेलु , सफल , कारगर और आजमाए हुए  नुस्खे हैं। आइये जानते हैं कान के दर्द में कारगर सिद्ध कुछ घरेलु उपचार के बारे में। 

 

कान से रोगों में घरेलू उपचार

कान दर्द के घरेलु उपचार
कान दर्द के घरेलु उपचार 

१. अदरख का रस निकालकर दो बूँद कान में टपका देने से भी कान के दर्द एवं सूजन में लाभ मिलता है।

 

२. लहसुन की दो कलीयों को अच्छी तरह से पीसकर इसमें एक चुटकी नमक मिलाकर वूलेन कपडे से बनायी गयी पुल्टीस को दर्द वाले हिस्से पर रखें ,जल्दी ही दर्द में आराम होगा।

 

३. 10 मिलि तिल के तेल में 3 लहसुन की कली पीसकर इसे किसी बर्तन में गरम करें। फिर छानकर शीशी में भरलें। इसकी 4-5 बूंदें जिस कान में समस्या हो उसमें टपका दें। कान दर्द में लाभ प्रद नुस्खा है।

 

४. जेतुन का तेल हल्का गरम करके कान में डालने से भी कान के दर्द में राहत मिलती है।

 

५. प्याज का रस निकाल लें,अब रुई के फाये को इस रस में डुबोकर इसे कान के उपर निचोड़ दें ,इससे कान में उत्पन्न सूजन,दर्द , एवं संक्रमण को कम करने में मदद मिलती है।

 

६. तुलसी की ताज़ी पतियों को निचोड़कर दो बूँद कान में टपकाने से कान दर्द से राहत देता है।

 

७. पांच ग्राम मैथी के बीज को एक बडा चम्मच तिल के तेल में गरम करें। फिर इसे छानकर शीशी में भर लें। अब इसे 2 बूंद दूध के साथ कान में टपकादें। कान पीप का यह बहुत ही कारगार इलाज माना जाता है।

 

८. अदरक के रस में नींबू का रस मिलाएं और इसकी चार पांच बूंदें कान में डालें। आधे घंटे के बाद कान को रुई से साफ कर दें।

 

९. दो या तीन बूँद सरसों का तेल हल्का गुनगुना करके कान में डालने से कान के संक्रमण में तुरंत लाभ मिलता है।

 

१०. अपने भोजन में अधिक से अधिक विटामिन -सी युक्त पदार्थों जैसे-अमरुद ,नींबू ,संतरे ,पपीते अदि फलों का प्रयोग करें ये कान के दर्द को कम करने में लाभ देते है।

 

११. केले की पेड की हरी छाल निकालें। इसे गरम करके सोते वक्त इसकी 3-4 बूंदें कान में डालें कान दर्द की यह बहुत ही कारगर दवा है।

 

१२. मुलहठी कान दर्द में उपयोगी है। इसे घी में भूनकर बारीक पीसकर पेस्ट बनाएं। फिर इसे कान में लगाएं। कुछ ही मिनिट में दर्द बिलकुल समाप्त होगा।

 

१३. एक मूली के बारीक टुकडे करके उसे सरसों के तेल में पकायें।फिर इसे छानकर शीशी में भर लें । कान दर्द में इसकी 2-4 बूंदे दिन में 3-4 बार टपकाने से जल्दी ही आराम मिलता है।

 

१४. अजवाईन का तेल और तिल का तेल 1:3 में मिलाएं, इसे मामूली गरम करके कान में 2-4 बूंदे टपका दें। कान दर्द में यह बहुत उपयोगी है।


दोस्तों आज हमने जाना कान से सभी रोगों के घरेलु उपचार के बारे में , ऊपर बताये गए नुस्खे बिलकुल कारगर और सफल हैं , हम इस बात का दावा करते हैं के इनके इस्तेमाल से कान के सभी रोग अच्छे से ठीक हो जाते हैं। 


नोट- नुस्खों को इस्तेमाल करने से पहले किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह जरूर ले ले। 


किसी भी बीमारी के आयुर्वेदिक इलाज के लिए आप हमसे सम्पर्क कर सकते हैं। contact us पेज को follow करके आप हमसे जुड़ सकते हैं। 

अगर जानकारी अच्छी लगे तो इसे जनहित में साँझा जरूर करें। 


धन्यवाद। 



Post a comment

Pls do not enter any spam link in the comment box.