बालों का गिरना रोकने के उपाय इन हिंदी

क्या आप बाल झड़ने से परेशान हैं? और सोच रहे हैं ि बाल झड़ना कैसे रोकें, बाल झड़ने की वा, बाल झड़ने की दवा आयुर्वेदिक, पुरुषों में बाल झड़ने के कारण, अचान बाल झड़ने के कारण, बाल झड़ने के लक्षण, बाल झड़ना गंजेपन का रोग, बाल झड़ने की दवा जैसे सवाल हर किसी से पूछ रहे हैं। तो हम आपको  बाल झड़ने से रोकने के लिए कुछ सफल और कारगर आसान घरेलू उपाय बताने जा रहे हैं जो आपके काम के साबित होंगे, बालों से जुड़ी कई प्रकार की समस्याएं होती हैं।

 बालों का गिरना

हमारे सिर में बालों के 100,000 रेशे होते हैं और एक दिन में 50 से 100 रेशे टूटना बहुत सामान्य माना जाता है। लेकिन जब इससे अधिक बाल टूटने लगें तो इससे गंजापन हो सकता है और आपको इसके लिए कुछ करने की ज़रुरत है। कई तरह के पर्यावरणीय प्रभाव, उम्र बढ़ने, बहुत अधिक तनाव, अत्यधिक धूम्रपान, पोषक तत्वों की कमी, हार्मोनल असंतुलन, आनुवांशिक कारक, खोपड़ी में संक्रमण, गलत या रासायनिक समृद्ध बाल उत्पादों, कुछ दवाओं और थायराइड विकार, स्व-प्रतिरक्षित बीमारियां, पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओ), लोहे की कमी से एनीमिया, और पुरानी बीमारियां आदि बालों के झड़ने के कारक हो सकते हैं।

 

इससे पहले हम पाठकों को बालों का गिरना कैसे रोके ये बताएं, उससे पहले जानते हैं बाल झड़ने के कारण क्या-क्या हो सकते हैं।

 

बाल झड़ने के कारण

बाल झड़ने के कारण कई हैं, उनमें से प्रमुख कारणों के बारे में हम नीचे जिक्र कर रहे हैं

 

आनुवंशिकबालों के झड़ने का एक प्रमुख कारण आनुवंशिक भी है। अगर परिवार में पहले किसी को बाल झड़ने की समस्या रही है, तो परिवार में किसी अन्य सदस्य को भी इसका सामना करना पड़ सकता है।

 

शारीरिक या भावनात्मक तनावशारीरिक या भावनात्मक तनाव के कारण भी बाल झड़ सकते हैं। जब आप शैम्पू करते हैं, कंघी करते हैं या अपने हाथों को बालों में फेरते हैं तो मुट्ठी में बहुत सारे बाल एक साथ जाते हैं।

शारीरिक या भावनात्मक तनाव से बाल गिरने का कारण कुछ इस प्रकार है

 

तेज बुखार या गंभीर संक्रमण

प्रसव

बड़ी सर्जरी, बड़ी बीमारी या अचानक खून की कमी

गंभीर भावनात्मक तनाव


क्रैश डाइट (कम वक्त में वजन कम करने की डाइट), विशेष रूप से वे जिनमें पर्याप्त प्रोटीन नहीं होता है।

कुछ खास तरह की दवाइयों की वजह से जैसेगर्भनिरोधक दवा या एंटीडिप्रेसेंट्स।

कुछ महिलाएं 30 से 60 की उम्र के बीच में भी इस प्रकार की बाल झड़ने की समस्या से पीड़ित हो सकती हैं।

 

बाल झड़ने के अन्य कारण

 

एलोपेसिया एरीटा

एनीमिया (खून की कमी)

ऑटोइम्यून स्थिति जैसे कि ल्यूपस

जलने के कारण

कुछ संक्रामक रोग जैसे सिफलिसयौन संबंध से होने वाला एक तरह का बैक्टीरियल संक्रमण

अत्यधिक शैंपू करना और ब्लो-ड्राई करना

हार्मोन में बदलाव होना

थायराइड रोग

कुछ आदतें जैसेलगातार बालों पर हाथ फेरना, खींचना या स्कैल्प को रगड़ना

टिनिआ केपिटिसखोपड़ी का दाद

स्कैल्प में बैक्टीरियल संक्रमण

 

बाल झड़ने से रोकने के घरेलू उपाय

 

1. नारियल तेल

उपयोग करने का तरीका

रात को सोने से पहले बालों और स्कैल्प की अच्छे से मालिश करें।

फिर अगले दिन हल्के शैंपू से धो लें।

नारियल तेल का उपयोग हफ्ते में दो से तीन बार कर सकते हैं।

कैसे लाभकारी है?

नारियल तेल का उपयोग कई तरह के हेयर प्रोडक्ट में किया जाता है। नारियल तेल बालों के डैमेज को कम करने में उपयोगी हो सकता है। यह काफी हल्का होता है और बालों को गहराई से पोषण प्रदान कर सकता है। बाल धोने से पहले या बाद में, नारियल तेल का उपयोग बालों के प्रोटीन को बनाए रखने में मदद करता है, जिससे बालों के स्वास्थ को बढ़ावा मिल सकता है साथ ही नारियल तेल का उपयोग बालों के खराब होने या टूटने के जोखिम को कम कर सकता है

 

2. प्याज का रस

सामग्री

एक प्याज

एक कॉटन बॉल

उपयोग करने का तरीका

प्याज को पीसकर उसका रस निकाल लें।

अब इसमें रूई को डुबाकर, रस को बालों की जड़ों से लेकर सिरे तक लगाएं।

करीब आधे से एक घंटे बाद बालों को ठंडे पानी से धो लें और बाद में शैंपू भी कर लें।

कैसे फायदेमंद है?

एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध के अनुसार स्कैल्प पर कच्चे प्याज के रस का उपयोग बालों के री ग्रोथ में उपयोगी पाया गया है। इस आधार पर प्याज के रस का उपयोग एलोपेसिया एरेटा बाल झड़ने की स्थिति के लिए प्रभावकारी हो सकता है।

 

3. करी पत्ता

सामग्री

मुट्ठी भर करी पत्ता

आधा कप नारियल तेल

उपयोग करने का तरीका

आधा कप नारियल के तेल में मुट्ठी भर करी पत्ते डालें और इसे पैन में गर्म करें।

जब मिश्रण हल्का काला रंग का होने लगे तो गैस बंद कर दें और मिश्रण को ठंडा होने के लिए छोड़ दें।

ठंडा होने के बाद मिश्रण को छान लें।

अब इस मिश्रण को अपने बालों और स्कैल्प पर लगाकर, आधे से एक घंटे के लिए छोड़ दें।

उसके बाद शैंपू और कंडीशनर से धो लें।

हफ्ते में एक बार इसका उपयोग किया जा सकता है।

कैसे फायदेमंद है?

कई सालों से बालों के लिए करी पत्ते का उपयोग किया जाता रहा है। यह बालों के लिए टॉनिक की तरह काम कर बालों के रंग को बरकरार रखने के साथ-साथ नए बालों को जमने में भी मदद कर सकता है इतना ही नहीं करी पत्ता बालों के सफेद होने के जोखिम को भी कम कर सकता है हालांकि, इस बारे में अभी तक कोई सटीक वैज्ञानिक प्रमाण मौजूद नहीं है, लेकिन व्यक्ति बालों को स्वस्थ रखने के लिए करी पत्ते का उपयोग कर सकता है।

 

4. अंडा

सामग्री

एक अंडा

दो से तीन चम्मच बादाम तेल

उपयोग करने का तरीका

अंडे के सफेद हिस्से को बादाम तेल में मिला लें।

अब इसे अपने बालों में लगाएं।

लगभग आधे घंटे के बाद बालों को शैंपू से धो लें।

कैसे फायदेमंद है?

अंडा बालों को स्वस्थ रखने के लिए एक प्रभावकारी सामग्री हो सकता है। यह सिर्फ बालों को स्वस्थ रख सकता है बल्कि बालों को खराब होने या टूटने से भी बचा सकता है। बालों के लिए अंडे का उपयोग कई अन्य सामग्रियों जैसेजैतून का तेल, शहद और दही के साथ भी किया जा सकता है इतना ही नहीं अंडे की जर्दी भी बालों के लिए लाभकारी हो सकती है और बाल झड़ने में एक उपयोगी उपचार की तरह काम कर सकती है

 

5. आंवला

सामग्री

4-5 आंवला

एक कप नारियल तेल

उपयोग करने का तरीका

आंवले को नारियल तेल में तब तक उबालें, जब तक कि तेल काला हो जाए।

इसके बाद तेल को ठंडा करें और इससे सिर की मालिश करें।

इसके करीब 20-30 मिनट के बाद शैंपू से सिर धो लें।

कैसे फायदेमंद है?

आंवला हेयर टॉनिक की तरह उपयोग किया जाता रहा है। आंवला का उपयोग बालों को मजबूत बनाने में मदद कर सकता है। आंवला का उपयोग अगर नारियल तेल के साथ किया जाए तो यह बालों को झड़ने से बचाव करने में सहायक हो सकता है। इसके अलावा, आंवला बालों को पोषण प्रदान कर सकता है, जिससे बाल स्वस्थ हो सकते हैं। अगर आंवले का सेवन किया जाए तो यह और लाभकारी हो सकता है आंवला में विटामिन सी मौजूद होता है, जो झड़ते बालों के लिए लाभकारी हो सकता है

 

6. मुलेठी

सामग्री

एक चम्मच मुलेठी का पाउडर

एक कप दूध

एक चम्मच केसर

उपयोग करने का तरीका

मुलेठी पाउडर और केसर को दूध में डालकर मिक्स कर लें।

रात को सोने से पहले इस मिश्रण को सिर पर लगाएं।

अगली सुबह सिर को अच्छी तरह से धो लें।

इसे हफ्ते में एक से दो बार उपयोग किया जा सकता है।

कैसे फायदेमंद है?

मुलेठी का उपयोग बालों के लिए बनाए जाने वाले टॉनिक में किया जाता है। मुलेठी बालों को झड़ने से रोकने में मदद कर सकता है। इसके अलावा, मुलेठी युक्त शैंपू बालों को स्वस्थ रखने और बालों से जुड़ी अन्य समस्याओं के लिए लाभकारी हो सकता है हालांकि, इससे संबंधित कोई सटीक वैज्ञानिक प्रमाण अभी तक उपलब्ध नहीं है। यह एक हर्बल जड़ी बूटी है तो इसका उपयोग बालों को स्वस्थ रखने के लिए किया जा सकता है।

7. ग्रीन टी

सामग्री

दो ग्रीन टी बैग्स

दो-तीन कप गर्म पानी

उपयोग करने का तरीका

दोनों टी बैग्स को गर्म पानी में डाल दें और पानी के ठंडा होने तक का इंतजार करें।

टी बैग्स को बाहर निकालकर, इस पानी से बालों को धो लें।

साथ ही सिर की मसाज करें।

कैसे फायदेमंद है?

बालों के लिए ग्रीन टी के लाभ भी अनेक हैं। ग्रीन टी में एपिगैलोकैटेचिन-3-गैलेट (ईजीसीजी) नामक एक पॉलीफेनोल होता है। ईजीसीजी बालों के ग्रोथ में सहायक हो सकता है और साथ ही साथ एलोपेसिया के लिए भी लाभकारी हो सकता है।

 

पढ़ना जारी रखें

 

8. दही

सामग्री

एक कटोरी दही

थोड़े से मेथी के दाने

उपयोग करने का तरीका

मेथी के दानों को मिक्सी में पीस लें।

अब इस पाउडर को दही में डालकर मिक्स कर लें।

इस मिश्रण को सिर बालों पर लगाएं और हल्के हाथों से सिर की मालिश करें।

करीब 20 मिनट बाद गुनगुने पानी से बालों को धोकर, शैंपू कर लें।

कैसे फायदेमंद है?

दही प्रोबायोटिक्स का एक स्रोत है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध के अनुसार, प्रोबायोटिक्स का उपयोग बालों के विकास और उनकी मोटाई में सुधार का काम कर सकता है।

 

9. गुड़हल (Hibiscus)

सामग्री

10 हिबिस्कस फूल

2 कप शुद्ध नारियल तेल

उपयोग करने का तरीका

हिबिस्कुस फूल को नारियल के तेल में मिलाकर गर्म कर लें।

जब फूल अच्छी तरह से जल जाएं, तो तेल को अलग कर लें।

इस तेल को हर रात सिर बालों पर लगाएं और अगली सुबह धो लें।

इसके अलावा, हिबिस्कुस की पत्तियों का उपयोग भी किया जा सकता है।

 

सामग्री

1-2 हिबिस्कस फूल

5-6 हिबिस्कस की पत्तियां

नारियल का तेल (आवश्यकतानुसार)

उपयोग करने का तरीका

हिबिस्कस के फूल और पत्तियों को ब्लेंड करें।

इस मिश्रण में थोड़ा सा नारियल तेल मिलाएं।

इसे अपने स्कैल्प पर लगाएं और अपने बालों में फैलाएं।

इसे 30-60 मिनट के लिए छोड़ दें।

फिर शैंपू और कंडीशनर से धो दें।

हफ्ते में एक बार इसका उपयोग कर सकते हैं।

कैसे लाभकारी है?

हिबिस्कस फूल और पत्तियां बालों के लिए लाभकारी हो सकते हैं। दरअसल, चूहों पर किए गए शोध के अनुसार हिबिस्कस फूल और पत्तियां बालों को बढ़ने में मदद कर सकते हैं। शोध में यह बात सामने आई कि फूलों से भी ज्यादा उपयोगी पत्तियां हो सकती हैं इसके अलावा, हिबिस्कस को हेयर टॉनिक की तरह भी उपयोग किया जा सकता है। इसके उपयोग से बालों का झड़ना काफी हद तक कम हो सकता है।

 

10. रोजमेरी तेल

सामग्री

आवश्यकतानुसार रोजमेरी तेल

8 से 10 बूंद जैतून या नारियल तेल

उपयोग करने का तरीका

रोजमेरी तेल और जैतून या नारियल तेल को मिला लें।

इसे रात में सोने से पहले सिर में लगाकर, अगले दिन बाल धो लें।

हफ्ते में एक से दो बार इसका उपयोग किया जा सकता है।

कैसे फायदेमंद है?

रोजमेरी तेल का उपयोग बालों के लिए काफी लाभकारी हो सकता है। रोजमेरी तेल या उसकी पत्तियों का उपयोग बालों के ग्रोथ के लिए लाभकारी हो सकता है। हालांकि, इस विषय में अभी और सटीक शोध की आवश्यकता है।

 

11. एलोवेरा

सामग्री

एलोवेरा का एक पत्ता

उपयोग करने का तरीका

एलोवेरा के पत्तों को गर्म पानी में डालकर उबाल लें और फिर उन्हें पीसकर पेस्ट तैयार कर लें।

अब बालों को धोकर, पेस्ट को बालों पर अच्छे से लगाएं।

इसके बाद, हल्के हाथों से सिर की मालिश करें।

करीब 15 मिनट बाद बालों को ठंडे पानी से धो लें।

इसे हफ्ते में दो से तीन बार लगाया जा सकता है।

कैसे फायदेमंद है?

एलोवेरा के फायदे अनेक हैं। सेहत और त्वचा के साथ-साथ एलोवेरा बालों के लिए भी लाभकारी हो सकता है। यह बालों को झड़ने और बालों के ग्रोथ में सहायक हो सकता है। इसे बाल गिरने की दवा की तरह उपयोग किया जा सकता है यह बालों को खराब होने से बचा सकता है और बालों को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है। एलोवेरा का उपयोग अन्य सामग्रियों जैसे: बादाम या अरंडी तेल के साथ भी किया जा सकता है।

 

12. शिकाकाई

सामग्री

एक चम्मच शिकाकाई पाउडर

एक चम्मच एलोवेरा पाउडर

एक चम्मच आंवला पाउडर

एक चम्मच हिना पाउडर

उपयोग करने का तरीका

इन सभी सामग्रियों को एक समान मात्रा में लेकर मिलाएं और पेस्ट बना लें।

अब मिश्रण को अपने सिर और बालों पर लगाएं।

थोड़ी देर बाद बालों को गुनगुने पानी से धो लें और शैंपू जरूर करें।

इस घरेलू उपचार को बाल झड़ने की दवा के रूप में हफ्ते में दो बार इस्तेमाल कर सकते हैं।

कैसे फायदेमंद है?

शिकाकाई एक हर्बल जड़ी-बूटी है। इसका उपयोग सालों से बालों को बढ़ाने और उन्हें धोने के लिए हर्बल शैंपू के रूप में किया जाता रहा है। इतना ही नहीं, बालों को साफ करने के साथ-साथ इससे बना ऐंटी-डैंड्रफ शैंपू रूसी से निजात दिलाने में भी मददगार हो सकता है। बालों पर यह किस प्रकार काम करता है, इसपर फिलहाल और शोध की आवश्यकता है।

 

बालों को झड़ने से रोकने के लिए क्या खाएं और क्या खाएं

बालों को झड़ने से रोकने के उपाय की बात करें तो डाइट भी अहम भूमिका निभाती है। अगर डाइट सही हो तो बाल भी स्वस्थ रहेंगे। वहीं, पोषक तत्वों की कमी भी बाल झड़ने का कारण हो सकती है। इसलिए लेख के इस भाग में हम बाल झड़ने से रोकने के लिए क्या खाएं और क्या खाएं इसकी जानकारी दे रहे हैं।

 

बाल झड़ने से रोकने के लिए क्या खाएं

अंडाबालों के लिए अंडे का सेवन लाभकारी हो सकता है। दरअसल, अंडे में प्रोटीन होता है और प्रोटीन की कमी से बाल बेजान और झड़ने लग सकते हैं। अगर कोई अंडा नहीं खाता है तो वो अन्य प्रोटीन युक्त आहार जैसेबादाम या मटर का सेवन कर सकता है। सिर्फ प्रोटीन ही नहीं अंडे में बायोटीन भी होता है, जो बालों के लिए लाभकारी हो सकता है।

 

आयरनबालों को स्वस्थ बनाने के लिए आयरन भी फायदेमंद हो सकता है ऐसे में आयरन युक्त खाद्य पदार्थ जैसेपालक, मटर या काले का सेवन कर सकते हैं

 

जिंकपोषक तत्वों की बात करें तो जिंक की कमी भी झड़ते बालों का कारण बन सकती है। ऐसे में जिंक युक्त आहार जिसमें, चिकन, बादाम, ओटमील, मटर जैसे खाद्य पदार्थ शामिल हैं। इनका सेवन किया जा सकता है

 

क्या खाएं

विटामिन विटामिन- बालों के लिए लाभकारी है, लेकिन इसका अत्यधिक सेवन बालों के झड़ने का कारण बन सकता है।

 

इसके अलावा, नीचे बताए जा रहे खाद्य और पेय पदार्थों से दूरी बनाना एक अच्छा विचार हो सकता है, ये बालों की समस्या को जटिल कर सकते हैं। हालांकि, यह बालों को किस प्रकार प्रभावित करते हैं, इससे जुड़ा वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है।

 

शक्कर युक्त पेय पदार्थ

शराब

जंक फूड्स

अधिक चाय कॉफी


जानकारी अच्छी लगे तो इसे शेयर जरूर करें। 


धन्यवाद। 

 


Post a comment

Pls do not enter any spam link in the comment box.