pagal kutte ke katne par 100% upchar

पागल कुत्ता या साधारण कुत्ता , बन्दर और बिल्ली जब काटती है -







दोस्तों , आप सबका बहुत बहुत स्वागत है , आज मैं एक ऐसे विषय पर बात करने जा रहा हूँ जो सुनने में या कहने में साधारण सा लगता है लेकिन जब कोई भी इंसान उसकी चपेट में आता है या उसके द्वारा घायल या काट लिया जाता है तो वो समस्या उस इंसान को बहुत गंभीर बना  देती है जिसके वजह से उस इंसान को कम से कम एक सप्ताह तक इलाज लेना पड़ता है ठीक होने के लिए।  जी हाँ , वो समस्या है किसी पागल या साधारण कुत्ते द्वारा ,  किसी बन्दर द्वारा या फिर किसी भी बिल्ली द्वारा मनुष्य को काट लेना। 



जब इनमे से कोई भी इंसान को काटता है तो वो बहुत घबरा जाता है और फटाफट भाग कर किसी चिकित्सक या डॉक्टर के पास जाता है और डॉक्टर उसको कम से कम 14 इंजेक्शन ( टिके ) लगाने के लिए कहता है।  ऐसे में सिर्फ आपका पैसा पानी में जाता है और एक सफल उपचार नहीं मिल पाता। मरीज एक बार ठीक हो जाता है लेकिन कुत्ते के काटने का असर ज़िन्दगी में कभी भी हो सकता है।  

ऐसी स्तिथि में क्या करना चाहिए आज मैं आपको बिलकुल सरल भाषा में बताने बताने जा रहा हूँ , अगर आपको कोई कुत्ता ( पागल या साधारण ), बन्दर या बिल्ली काट लेती है तो आपको किसी डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं है क्यूंकि मैं जो नुस्खा बताऊंगा वो बिलकुल सरल और घरेलू है और 100 % काम करता है। 
हमने अभी तक 2000 से ज्यादा मरीजों को इसी दवा से बिलकुल ठीक कर चुके है जिसके बाद कभी भी कोई शिकायत नहीं आयी , अतः आप भी इसका लाभ उठा सकते हैं।  आइये जानते हैं :-

दवा कोनसी और कैसे लेनी है -

पुनर्वा ( जिसे सफ़ेद सांठी ) भी कहा जाता है आयुर्वेद में , 25  ग्राम पुनर्वा लेनी है जो मार्किट में किसी भी पंसारी की दूकान पर आसानी से मिल जाएगी।  25 ग्राम पुनर्वा को अच्छे से सूखा लेना है और सुखाने के बाद मिक्सी या खरल में बिलकुल बारीक पीस लेना है और पीस कर कप्पड़छन कर लेना है।  

दवा लेने का तरीका -

5 ग्राम पुनर्वा का बारीक चूरन ( पीसा हुआ ), 1 चम्मच देशी खांड और एक चम्मच देशी घी इन तीनो को उबले हुए दूध के 1  गिलास में डालकर अच्छे से फ़ेंट लेना है और सुबह खाली पेट उस दवा मिले हुए दूध का सेवन लगातार 3  दिनों तक करना है , ध्यान रहे ये नुस्खा सुबह खाली पेट ही प्रयोग करना है अथवा लेना है और दवा लेने के बाद मरीज को 1  घंटे तक कुछ खाना पीना नहीं है।  

मरीज इसमें किसी भी तरह की लापरवाही न बरते और 3 दिन का पूरा कोर्स अच्छे से करें , परिणाम बहुत ही बेहतर मिलेगा।  मरीज को 3 दिन तक घर में रहने की सलाह दी जाती है अतः सलाह का पालन करना अनिवार्य है। 



फरहेज क्या क्या करने हैं -

मरीज को किसी भी प्रकार का नशा नहीं करना है 
मरीज को तला हुआ नहीं खाना है 
कोई भी नॉनवेज 


ऊपर बताये गए फरहेजों का पालन करना अनिवार्य है एक बेहतर और 100 % उपचार के लिए।  
इसके अलावा मरीज अपनी इच्छा से खा पी सकते हैं। 


 मैं अपने अगले पोस्ट में बालों की समस्या के बारे में संक्षिप्त में बताऊंगा और उसका 100 % घरेलू उपचार भी बताऊंगा जिसके प्रयोग से आपको अपनी बालों की सभी समस्याओं से निजात मिलेगी। 

अगर ये पोस्ट अच्छा लगे तो इसको जनहित में जरूर शेयर करें ताकि जनजीवन इसका लाभ उठा सके। 


धनयवाद। 

Post a comment

Pls do not enter any spam link in the comment box.