bawasir ke masse ka 100% gharelu ilaj

बवासीर क्या होता है , इसके कारण क्या है और इसके लक्षण क्या होते है और इसका सफल घरेलु उपचार क्या होता है  , आइये जानते है -

दोस्तों आज मैं आप सबको बवासीर जैसी घातक बिमारी के बारे में बताऊंगा जो न सिर्फ घातक है बल्कि जानलेवा भी होती है , ये बिमारी रोगी को अंदर से कमजोर कर देती है और धीरे धीरे खोखला बना देती है जिससे रोगी की मौत तक हो सकती है।  अतः इस जानलेवा बीमारी को हमे कभी भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए और समय रहते इसका उपचार करा लेना चाहिए जिससे हम खुद को स्वस्थ रख सकें।

बवासीर के प्रकार :-

बवासीर 2 प्रकार की होती है -

1. खूनी बवासीर
2. बादी बवासीर

बवासीर होने के मुख्य कारण -

1. लाल मिर्च का सेवन अधिक मात्रा में करना
2. चाय या कॉफ़ी का अधिक सेवन करना
3. हुक्का बीड़ी या सिगरेट का ज्यादा प्रयोग करना
4. किसी भी प्रकार की गरम वस्तु का सेवन या प्रयोग करना जैसे -गरम मसाले , तला हुआ भोजन आदि
5. शराब का ज्यादा सेवन करना
6. अधिक मात्रा में मासाहारी भोजन का प्रयोग करना

खूनी बवासीर के मुख्य लक्षण :-

कब्ज का ज्यादा दिन तक रहना , शौच आदि करते समय कब्ज के कारण जब मरीज जोर लगाता है तो गुदा से खून आना शुरू हो जाता है जिससे मरीज को बहुत ज्यादा तकलीफ या परेशानी होती है।

बादी बवासीर के मुख्य लक्षण :-

कब्ज का ज्यादा दिन तक रहना, इसमें खून नहीं गिरता बल्कि रोगी को हर समय गुदा में जलन , खुजली और दर्द से तकलीफ होती रहती है, जो हर दिन बढ़ती ही रहती है।

बवासीर का 100 % सफल घरेलु इलाज -

इन्द्र जौं  कड़वे 100 ग्राम लेने है , उनको खरल में बारीक पीसना है और पीसने के बाद उसमे कुछ इस तरह से और इतना पानी मिलाना है के गूथे आटे की तरह बन जाये।  फिर उसकी काले चने के बराबर गोलियां बनानी है और गोलियों को अच्छी प्रकार छाँव में सूखा ले , जब अच्छी प्रकार सारी गोलियां सूख जाएं तो उनको किसी कांच की शीशी में भर के रख लें , बस आपकी दवा तैयार है और इसको लेना कैसे है वो जान लेते है -

दवा लेने का तरीका -

रात को खाना खाने के बाद सोते समय ताजे पानी के साथ 2 गोलियां लेनी हैं , ये दवा आपको 8 से 10 दिन तक लेनी है।

दोस्तों ये बिलकुल कारगर और सफल घरेलु नुस्खा है , जिससे अभी तक हम हजारों मरीजों को ठीक कर चुके है।

दवा लेने के दौरान क्या फरहेज करने होते है , जानते हैं -

1. चाय कॉफ़ी
2. कोई भी नशा
3. तला हुआ खाना
4. लाल मिर्च
5. गरम मसालें और नॉनवेज खाना

ऊपर बताये गए फरहेजों का पालन करना अनिवार्य है , तभी दवा अपना काम करेगी और मरीज को 10 दिन में बिलकुल ठीक कर देगी

नोट :- कोई भी बांसी चीज /भोजन का सेवन रोगी को नहीं करना है। 


दोस्तों , यहाँ पर मैं आपको ऐसी ऐसी दवाओं के बारे और उनके इस्तेमाल से होने वाले 100 % फायदे के बारे में बताऊंगा जो सफल कारगर होती है , जिसके लेने के बाद वो बिमारी रोगी को दोबारा नहीं होगी। 

मेरा आप सबसे विनम्र निवेदन है के ज्यादा से ज्यादा इस पोस्ट को like  और जनहित में share करिये जिसका लाभ सभी तक पहुंच सके। 

आप कमेंट बॉक्स में कोई भी जानकारी ले भी सकते है और दे भी सकते है , जो जनहित के काम आ जाये। 

अगर आपकी कोई भी क्वेरी है तो मुझसे संपर्क कर सकते है , मेरा ईमेल -
sharma.nitin593@gmail.com 




धन्यवाद 





Post a Comment

Pls do not enter any spam link in the comment box.